Change Currency :   
Rajshekhar Ki Kritiyon Ka Alochnatmak Adhyayan
Book Detail
Categories
Home > All Books > Book Detail  

Rajshekhar Ki Kritiyon Ka Alochnatmak Adhyayan
राजशेखर की कृतियों का आलोचनात्मक अध्ययन 
Author Dr. Mayank Dengula
ISBN 978-81-7854-253-9
Edition 2013
Language Hindi

Format Price Discount New Price *
Hardbound Rs. 800.00
20%
Rs. 640.00
    * Postage & Handling Charges Extra
Discription
काव्यशास्त्रीय समीक्षण एक क्लिष्ट कार्य है। प्रस्तुत ग्रंथ में राजशेखर की कृतियों का काव्यशास्त्रीय दृष्टि से समीक्षण प्रस्तुत कर साहित्य के शोधकर्ताओं के लिये एक सही दिशा प्रदान करने का सदुपक्रम किया गया है। संस्कृत के महाकवि राजशेखर एक महान शास्त्रविद् भी थे। फ्काव्यमीमांसाय् उनका शास्त्रीय ग्रंथ इसका प्रमाण है। ऐसे मनीषी के काव्यों का काव्यशास्त्रीय दृष्टि से मनन, चिन्तन, पुनश्च तद्विषयक प्रस्तुतीकरण गहन-साधना से ही सम्भव होता है।
डॉ. ढेगुला जी ने यह क्लिष्ट कार्य सहज सुबोध भाषा में महाकवि राजशेखर की काव्य कृतियों के उदाहरण सहित प्रस्तुत कर सम्पन्न किया है। यह शोध-कार्य साहित्यिक-समीक्षण की दृष्टि से तो महत्त्वपूर्ण है ही, साथ ही शोधकर्ताओं के लिये भी परमोपयोगी है। विश्वास है कि श्री ढेंगुला जी का यह शोध-ग्रंथ साहित्य एवं शोध-जगत् में अपना वर्चस्व स्थापित करेगा।
 

Eastern Book Linkers
Home | About Us | New Arrival | Best Sellers | Author Invitation | All Books| Contact Us